Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail
मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव ने यू0पी0 सिविल सेवा संघ के वार्षिक अधिवेशन के उद्घाटन समारोह को सम्बोधित किया
मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव ने यू0पी0 सिविल सेवा संघ के वार्षिक अधिवेशन के उद्घाटन समारोह को सम्बोधित किया

मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव ने यू0पी0 सिविल सेवा संघ के वार्षिक अधिवेशन के उद्घाटन समारोह को सम्बोधित किया

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव ने कहा कि सरकारी योजनाओं को प्रभावी ढंग से लागू करने की महत्वपूर्ण जिम्मेदारी पी0सी0एस0 अधिकारियों की होती है। उन्होंने अपनी इस जिम्मेदारी का अच्छी तरह से निर्वाह किया है, जिसके कारण राज्य सरकार की महत्वपूर्ण विकास एवं जनकल्याणकारी योजनाओं का सफल क्रियान्वयन हो सका है। उन्होंने आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे के लिए तेजी से भूमि अधिग्रहण का उदाहरण देते हुए कहा कि इसका निर्माण इसी वजह से मात्र 23 महीने में ही कराया जा सका।

मुख्यमंत्री ने यह विचार आज यहां लोक भवन में आयोजित यू0पी0 सिविल सेवा संघ (प्रशासकीय शाखा) के वार्षिक अधिवेशन के उद्घाटन समारोह को सम्बोधित करते हुए व्यक्त किए। उन्होंने कहा कि समाजवादी पेंशन, निःशुल्क लैपटाॅप वितरण योजना जैसी अनेक योजनाओं का सफल क्रियान्वयन भी पी0सी0एस0 अधिकारियों की लगन और परिश्रम के कारण सफल हो सका। उन्होंने कहा कि अधिकतर सरकारी योजनाओं को लागू करने का भार पी0सी0एस0 अधिकारियों पर होता है। ऐसे में उनकी भूमिका महत्वपूर्ण हो जाती है। उन्होंने कहा कि पी0सी0एस0 अधिकारी सरकार और जनता के बीच सेतु का काम करते हैं।

श्री यादव ने कहा कि वर्तमान सरकार ने पी0सी0एस0 संवर्ग का मनोबल बढ़ाने के उद्देश्य से उनकी तमाम समस्याओं का समाधान किया, जिसके चलते बहुत लम्बे अरसे बाद उन्हें आई0ए0एस0 संवर्ग में प्रोन्नति मिलना सम्भव हुआ है। उन्होंने कहा कि समाजवादी सरकार के प्रयासों से पिछले चार वर्षों के अंदर 240 पी0सी0एस0 अफसरों को आई0ए0एस0 संवर्ग में पदोन्नत किया गया है। इसके अलावा सरकार ने पी0सी0एस0 संवर्ग के अधिकारियों की पदोन्नति का मार्ग भी प्रशस्त किया है, जिसके चलते बड़ी संख्या में इस संवर्ग के अधिकारी पदोन्नति पा चुके हैं।

मुख्यमंत्री ने सरकारी सेवाओं में कार्य-कुशलता को बढ़ाने के लिए प्रशिक्षण की आवश्यकता पर बल देते हुए कहा कि पी0सी0एस0 अधिकारियों की लगातार ट्रेनिंग होती रहनी चाहिए। उन्होंने कहा कि गुड गवर्नेन्स में अधिकारियों की भूमिका महत्वपूर्ण होती है। ऐसे में उनकी कार्य-कुशलता और निर्णय लेने की क्षमता में बढ़ोत्तरी करने के सभी प्रयास किए जाने चाहिए। उन्होंने कहा कि प्रशिक्षण के जरिए नये द्वार भी खुलते हैं। मौजूदा समस्याओं का हल भी इसके माध्यम से निकाला जा सकता है।

श्री यादव ने कहा कि प्रदेश की समाजवादी सरकार ने पिछले लगभग 05 वर्षों के दौरान राज्य का तेजी से विकास किया है, जिसमें पी0सी0एस0 अधिकारियों का महत्वपूर्ण योगदान है। उन्होंने कहा कि भविष्य में राज्य सरकार इस संवर्ग की अन्य समस्याओं पर भी गम्भीरता से विचार करते हुए उनका समाधान सुनिश्च्ति करेगी। उन्होंने कहा कि समाजवादियों का मानना है कि सरकारी कर्मचारियों व अधिकारियों को उनका हक अवश्य मिलना चाहिए। इसीलिए राज्य सरकार ने सरकारी कर्मचारियों की उचित मांगों को फौरन पूरा किया है।

समाजवादी स्मार्ट फोन योजना का जिक्र करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार इसके माध्यम से जनता तक सभी आवश्यक सूचनाएं विभिन्न एप्स के माध्यम से पहुंचाते हुए गुड गवर्नेन्स के लक्ष्य को प्राप्त करना चाहती है। उन्होंने कहा कि भविष्य में यह योजना गेम चेंजर साबित हो सकती है।

कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए मुख्य सचिव श्री राहुल भटनागर ने कहा कि उत्तर प्रदेश का पी0सी0एस0 संवर्ग देश में टाॅप पर है। इस संवर्ग के अधिकारी अत्यन्त प्रतिभावान हैं। शासन-प्रशासन के सभी अधिकारियों को गुड गवर्नेन्स के साथ-साथ डिलीवरी सिस्टम को बेहतर बनाने के लिए काम करना चाहिए। अब वक्त आ गया है कि हम तेजी से फैसले लें और उन पर अमल करें ताकि आम आदमी को राहत मिले और उसका काम बिना किसी अड़चन के हो सके। वर्तमान सरकार ने पी0सी0एस0 अधिकारियों की विभिन्न समस्याओं के हल पर पूरा ध्यान दिया, जिसके कारण बड़ी संख्या में पी0सी0एस0 अधिकारियों की आई0ए0एस0 संवर्ग में प्रोन्नति सम्भव हुई है। इसके अलावा वर्ष 2012 से अब तक इस संवर्ग के अधिकारियों की बड़ी संख्या में विभिन्न पदों पर पदोन्नतियां की गई हैं। यही नहीं राज्य सरकार द्वारा 17 साल बाद इस संवर्ग की विवाद रहित ज्येष्ठता सूची भी तैयार करायी गयी है।

कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए पी0सी0एस0 एसोसिएशन के अध्यक्ष कैप्टन अमिताभ प्रकाश ने मुख्यमंत्री को धन्यवाद देते हुए कहा कि उनके प्रयास एवं सहमति से ही 09 वर्ष के अंतराल के बाद यह अधिवेशन सम्भव हो पाया है। उन्होंने पी0सी0एस0 संवर्ग की समस्याओं के समाधान तथा इस संवर्ग के लिए पदोन्नतियों का द्वार खोलने के लिए मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि इस संवर्ग के अधिकारी राज्य सरकार की विभिन्न योजनाओं के सफल क्रियान्यन के लिए जी-जान से प्रयास करते रहेंगे।

इस अवसर पर एसोसिएशन के महासचिव श्री पवन कुमार गंगवार ने कहा कि राज्य सरकार के प्रयासों के चलते पी0सी0एस0 संवर्ग के अधिकारियों की जहां एक ओर पदोन्नतियां सम्भव हो पायी हैं, वहीं दूसरी ओर नये पी0सी0एस0 अधिकारियों की भी नियुक्तियां हो रही हैं। यह एक सकारात्मक बदलाव है और इससे इस संवर्ग के अधिकारियों का उत्साहवर्धन हुआ है।

इससे पूर्व, कार्यक्रम स्थल पर पहुंचने के उपरान्त मुख्यमंत्री का स्वागत बुके भेंट कर किया गया। साथ ही, एसोसिएशन की ओर से उन्हें एक शाॅल तथा स्मृति चिन्ह भी भेंट किया गया। शुरुआत में दिव्यांग बच्चों द्वारा राष्ट्रगान प्रस्तुत किया गया, जिसके बाद मुख्यमंत्री ने अधिवेशन का शुभारम्भ दीप प्रज्ज्वलित कर किया। मुख्यमंत्री द्वारा दिव्यांग बच्चों को उपहार भी वितरित किए गए। इस मौके पर उन्होंने पी0सी0एस0 संघ की पत्रिका ‘प्रतिमान’ का विमोचन भी किया।

कार्यक्रम के दौरान प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री श्रीमती अनीता सिंह, प्रमुख सचिव नियुक्ति श्री के0एस0 अटोरिया, मुख्यमंत्री के विशेष कार्याधिकारी श्री जगदेव सिंह सहित बड़ी संख्या में पी0सी0एस0 अधिकारी मौजूद थे।