Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail
पिता मुलायम से आशीर्वाद लेने पहुंचे अखिलेश यादव
पिता मुलायम से आशीर्वाद लेने पहुंचे अखिलेश यादव

साइकिल चलती जायेगी…आगे बढ़ती जायेगी… : मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव

‘साइकिल’ जीतने के बाद पिता मुलायम से आशीर्वाद लेने पहुंचे अखिलेश यादव

चुनाव 2017: अखिलेश यादव सपा अध्यक्ष, चुनाव चिह्न साइकिल भी मिला

साइकिल पर विजय के जश्न के बीच मुख्यमंत्री अखिलेश यादव अपने पिता मुलायम सिंह यादव का आर्शवाद लेने उनके आवास पहुंचे।

चुनाव आयोग ने समाजवादी पार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव को बना दिया गया है। इसके साथ ही लखनऊ के मुख्यमंत्री आवास के बाहर जश्न मनाया जा रहा है जबकि इस फैसले के बाद अखिलेश यादव अपने पिता मुलायम सिंह यादव का आर्शवाद लेने उनके आवास पहुंचे।

सियासत में पिता और चाचा पर भारी पड़े मुख्यमंत्री अखिलेश यादव गुट के असली सपा साबित होने पर पूरे सूबे में समर्थक और सपाई जश्न में डूब गए। पार्टी के चुनाव चिह्न साइकिल पर अखिलेश के सवार होते ही लोग ढोल, नगाड़े लेकर सड़कों पर उतर आए, जमकर आतिशबाजी हुई और मिठाई बांटी गईं।

मैनपुरी में तो भीड़ ढोल-नगाड़ों के साथ खुशी का इजहार करते हुए पटाखे छोड़ती रही। फीरोजाबाद, मथुरा में मिष्ठान वितरण हुआ। बरेली में भी जश्न मनाया। शाहजहांपुर में जिला कार्यालय पर आतिशबाजी की गई। मिठाई वितरित कर अखिलेश के दोबारा मुख्यमंत्री बनने के लिए दुआ हुई। मेरठ-सहारनपुर और मुरादाबाद मंडल में भी पुराने और गिने चुने नेताओं को छोड़कर सभी अखिलेश के साथ खड़े दिखाई दिए। सबसे ज्यादा राहत की सांस वर्तमान सपा विधायकों ने ली। सपाई खुशी से झूम उठे, जी भर पटाखे छोड़े और मिठाई बांटी।

वाराणसी में जश्न मना रहे गुट का कहना था कि अखिलेश यादव की पार्टी ही असली समाजवादी पार्टी है, पर पुराने लोगों का मानना था कि मुलायम के बिना कैसी सपा। अखिलेश समर्थक ढोल, नगाड़े बजाते और अखिलेश जिंदाबाद के नारे लगाते हुए सड़कों पर उतर आए। बनारस के पांडेयपुर, चेतगंज, चोलापुर आदि क्षेत्रों के अलावा पूर्वांचल के अन्य जिलों में भी जश्न मना। गोरखपुर- बस्ती मंडल में गांव से लेकर शहर तक सपाइयों ने मिठाइयां बांटी और पटाखे फोड़े।

इलाहाबाद, प्रतापगढ़ और कौशांबी में जमकर जश्न मनाया गया। युवाओं की संख्या काफी ज्यादा रही, आतिशबाजी भी हुई। जिलाध्यक्ष कृष्ण मूर्ति सिंह यादव ने कहा कि यह पहली विजय है। चुनाव में भी कामयाबी मिलेगी। प्रतापगढ़ और कौशांबी में जश्न तो नहीं मना, अलबत्ता अखिलेश समर्थक उत्साहित नजर आए। आगरा में समर्थकों ने जमकर जश्न मनाया। आगरा और मैनपुरी में आतिशबाजी भी की गई।