Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail
इस्लामिक सेण्टर आॅफ इण्डिया द्वारा मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव को ‘मोहसिन-ए-अकल्लियत’ अवाॅर्ड से नवाजा गया
इस्लामिक सेण्टर आॅफ इण्डिया द्वारा मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव को ‘मोहसिन-ए-अकल्लियत’ अवाॅर्ड से नवाजा गया

इस्लामिक सेण्टर आॅफ इण्डिया द्वारा मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव को ‘मोहसिन-ए-अकल्लियत’ अवाॅर्ड से नवाजा गया

मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव ने कहा कि समाजवादी सरकार ने समाजवादी पेंशन योजना लागू करने का इसलिए फैसला लिया, क्योंकि गरीब घरों की महिलाओं के पास कोई सुविधा नहीं होती है। इस फैसले के तहत आज राज्य सरकार इन गरीब महिलाओं के बैंक खातों में हर महीने सीधे 500 रुपये की मदद मुहैया करवा रही है, जिससे वे अब अपनी कुछ जरूरतें अवश्य ही पूरी कर सकती हैं। सरकार गरीबों को निःशुल्क आवास और ई-रिक्शा भी उपलब्ध करा रही है ताकि गरीबों की स्थिति बेहतर हो और वे किसी के आश्रित न रहें।

मुख्यमंत्री ने यह विचार आज यहां इस्लामिक सेण्टर आॅफ इण्डिया, ऐशबाग ईदगाह में समाजवादी पेंशन योजना के नवीन स्वीकृत लाभार्थियों को परिचय पत्र वितरित करने के लिए आयोजित कार्यक्रम के दौरान व्यक्त किए। उन्होंने कहा कि यह योजना माताओं और बहनों की मदद के लिए चलायी गयी है और देश के किसी भी अन्य राज्य में ऐसी योजना नहीं संचालित हो रही है। इसके तहत इस समय 55 लाख गरीब परिवारों की महिला मुखिया को लाभान्वित किया जा रहा है। अगली बार सत्ता में आने के उपरान्त बचे हुए गरीब परिवारों को भी इस योजना का लाभ दिया जाएगा।

श्री यादव ने कहा कि समाजवादी सरकार द्वारा संचालित यह एक ऐसी योजना है, जिसे कोई भी सरकार बंद करने की हिम्मत नहीं जुटा पाएगी। सत्ता में आने के उपरान्त भविष्य में गरीबों को ई-रिक्शे के साथ-साथ 02 कमरों का मकान भी दिया जाएगा। गरीबों की जितनी मदद समाजवादियों ने की है, उतनी किसी ने नहीं की है। गरीब लोगों को सर पर छत मुहैया कराने के लिए राज्य सरकार ने लोहिया आवास, आसरा आवास जैसी योजनाएं लागू की हैं, जिनका लाभ बड़े पैमाने पर गरीबों को मिल रहा है। उन्होंने कहा कि सिर्फ समाजवादी ही गरीबों, अल्पसंख्यकों और वंचितों का भला सोचते हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि समाजवादी सरकार ने सरकारी अस्पतालों में इलाज, दवाई के साथ-साथ सभी तरह की जांचों, एक्स-रे, अल्ट्रासाउण्ड इत्यादि की मुफ्त व्यवस्था की है, जिससे गरीबों को बेहतर से बेहतर इलाज मिल सके। सरकारी अस्पतालों में किडनी, लिवर, दिल आदि की गम्भीर बीमारियों के मुफ्त इलाज की व्यवस्था भी की गई है। सरकारी ने समाजवादी स्वास्थ्य बीमा योजना लागू करने का फैसला लिया है, जिसका लाभ समाजवादी पेंशन पाने वाले परिवारों को मुहैया कराया जाएगा।

श्री यादव ने कहा कि समाजवादी सरकार अल्पसंख्यकों, कमजोर वर्गों और गरीबों की सरकार है। अल्पसंख्यकों को लाभान्वित करने के लिए विभिन्न विभागों द्वारा संचालित योजनाओं में 20 प्रतिशत मात्राकरण सुनिश्चित किया गया है। अल्पसंख्यकों की शिक्षा एवं कल्याण हेतु राज्य सरकार ने तमाम योजनाएं चलायी हैं, जिनका उन्हें लाभ मिल रहा है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने प्रदेश का संतुलित विकास किया है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार ने मोअल्लिमों के साथ-साथ आयुर्वेद और यूनानी चिकित्सा पद्धतियों के डिग्रीधारकों को नौकरियां दी हैं। समाजवादी सरकार सबको शामिल करते हुए राज्य को तरक्की के रास्ते पर आगे ले जा रही है। उन्होंने कहा कि सरकार ने सपेरा समुदाय की भी मदद की है।

नोटबंदी पर बोलते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि समाजवादी लोग भ्रष्टाचार और टैक्स चोरी के सख्त खिलाफ हैं। नोटबंदी का फैसला बिना सोचे-समझे जल्दबाजी में लिया गया, जिसके चलते आज सबसे ज्यादा दिक्कत गरीबों को हो रही है। इस फैसले को लागू करने से पहले यह सुनिश्चित किया जाना चाहिए था कि बैंकों और ए0टी0एम0 में पर्याप्त मात्रा में नकदी मौजूद हो, ताकि लोगों को रोजमर्रा के कामों में दिक्कत न हो।

प्रदेश में कराए गए विकास कार्यों का जिक्र करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे जैसे सड़क मार्ग का निर्माण बहुत ही कम समय में किया गया है। यह एक विश्वस्तरीय सुविधा है, जिस पर आवश्यकता पड़ने पर लड़ाकू विमानों को उतारा जा सकता है। जिन लोगों ने इस एक्सप्रेस-वे पर यात्रा की है, उन्होंने इसे सराहते हुए कहा कि रास्ते में किसी भी प्रकार की दिक्कत नहीं हुई और वे तेज गति से अपनी मंजिल तक आसानी से पहुंच सके।

श्री यादव ने कहा कि लखनऊ मेट्रो रेल परियोजना का निर्माण भी रिकाॅर्ड अवधि में कराया गया है और इसका ट्रायल रन शुरू भी हो चुका है। जल्द ही लोग इस पर यात्रा कर सकेंगे। राज्य सरकार ने पूरे प्रदेश में अवस्थापना सुविधाओं का विकास सुनिश्चित किया है। बड़े पैमाने पर सड़कों, पुलों, ओवरब्रिज तथा आर0ओ0बी0 इत्यादि का निर्माण कराया गया है। सड़कों का सुदृढ़ीकरण और चैड़ीकरण सुनिश्चित किया गया है। जिला मुख्यालयों को 04 लेन सड़कों से जोड़ा गया है। शहरों में 24 घण्टे, तहसीलों और जिला मुख्यालयों में 20 घण्टे तथा गांवों में 18 घण्टे बिजली दी जा रही है। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार ने नीति आयोग का गठन करके प्रदेश को दी जाने वाली धनराशि कम कर दी है।

कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए नगर विकास मंत्री श्री मोहम्मद आजम खां ने कहा कि समाजवादी सरकार गरीबों, मजलूमों, अल्पसंख्यकों की मददगार सरकार है। प्रदेश सरकार द्वारा सभी फैसले गरीबों के हक में लिए जाते हैं। राज्य सरकार ने बड़ी संख्या में गरीबों, अल्पसंख्यकों की मदद की है। उन्हें निःशुल्क आवास, ई-रिक्शा, लैपटाॅप इत्यादि उपलब्ध कराए हैं। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री हमेशा गरीबों, वंचितों और अल्पसंख्यकों के उत्थान के लिए काम करते रहते हैं।

कार्यक्रम को राज्य सरकार के मंत्रिगण श्री एस0पी0 यादव, श्री अभिषेक मिश्रा, श्री शंखलाल माझी, श्री रविदास मेहरोत्रा के अलावा ईदगाह ऐशबाग के इमाम मौलाना खालिद रशीद फरंगी महली ने भी सम्बोधित किया।

कार्यक्रम स्थल पर पहुंचने के उपरान्त मुख्यमंत्री का स्वागत बुके भेंट कर किया गया। इस अवसर पर उन्हें इस्लामिक सेण्टर आॅफ इण्डिया फरंगी महल, ईदगाह की तरफ से ‘मोहसिन-ए-अकल्लियत’ के अवाॅर्ड से नवाज़ा गया। उन्हें एक शाॅल भी भेंट किया गया। कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री ने लाभार्थियों को समाजवादी पेंशन योजना के परिचय पत्र वितरित किए। लगभग 02 हजार लाभार्थियों को यह परिचय पत्र उपलब्ध कराए गए। उन्होंने ‘रौशनी की सम्त’ नामक पुस्तिका का विमोचन भी किया।

कार्यक्रम के दौरान बड़ी संख्या में शासन-प्रशासन के वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी, समाजवादी पेंशन योजना के लाभार्थी तथा गणमान्य नागरिक मौजूद थे।