Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail
मुख्यमंत्री अखिलेश यादव
मुख्यमंत्री अखिलेश यादव

बराबर का पलड़ा चाहते हैं मुख्यमंत्री अखिलेश यादव

मुख्यमंत्री अखिलेश यादव  आश्वस्त हैं कि आने वाली सरकार उनकी बनेगी। जनसभा में जनता से तेज आवाज में कहते हैं कि हम लौटकर आ रहे हैं। आते ही लोगों के काम पूरे करेंगे। विरोधी दलों की खामियां गिनाते हैं, तो अपने काम गिनाने से नहीं चूके। इशारों में यह भी समझाते रहे कि अगर उन्हें कुछ नहीं मिला, तो खाली हाथ रहना होगा।

कोसीकलां की सभा में अखिलेश यादव की बॉडी लैंग्वेज में कॉन्फीडेंस नजर आ रहा था। पंद्रह मिनट के संबोधन में जनता की नब्ज पर बार-बार हाथ रखा। यह बताने में संकोच नहीं किया कि चीनी मिल क्यों नहीं चल सकी? फिर यह भी जता दिया कि चीनी यहां कैसे बन सकती है। सभा में मौजूद लोगों से भी हामी भरवाते रहे कि उनकी सरकार वापस आ रही है। कांग्रेस के हाथ को वह मजबूती का हाथ बताते हैं।

मुख्यमंत्री अखिलेश यादव
मुख्यमंत्री अखिलेश यादव

गोवर्धन तहसील बनने पर छाता इलाके के रीठौरा, ऊंचागांव, लोहोरवारी, संकेत, करहेला गांव गोर्वधन तहसील से जोड़ दिए गए। इस पर तब काफी विरोध हुआ। धरना-प्रदर्शन भी किए गए। उन्होंने इस विरोध को भी छुआ। कहा कि पहले तहसील बना दी, अब गांव भी शामिल कर दिए जाएंगे। जनता के मर्म को समझते हुए बोले- एक तरफ वह हैं, जो सिर्फ बाते करते हैं। एक तरफ हम हैं, जिन्होंने ऐसी व्यवस्था की है कि रिपोर्ट लिखने में किसी थानेदार की मर्जी नहीं चलेगी। आखिर दो आवाज हैं, दो तरह के काम हैं। जनता को तय करना है कि उसे किसके साथ रहना है।

मुख्यमंत्री अखिलेश यादव
मुख्यमंत्री अखिलेश यादव

यूपी को यह साथ पसंद है : मुख्यमंत्री अखिलेश यादव 

हाथरस : सपा अध्यक्ष व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने गुरुवार को यहां गठबंधन के नारे को दोहराया। कहा, यह साथ यूपी को पसंद है। उन्होंने नोटबंदी को लेकर केंद्र सरकार को निशाने पर लिया। कहा, ‘मोदी ने लोगों को लाइन में लगा दिया।’

गुरुवार को अखिलेश यादव सादाबाद सीट से पार्टी प्रत्याशी देवेंद्र अग्रवाल के समर्थन में छाबी मियां बाग में पहुंचे थे। यूपी को यह साथ पसंद आ चुका है। उन्होंने 20 मिनट के भाषण में एंबुलेंस सेवा, पेंशन व लैपटॉप वितरण जैसी योजनाओं का गुणगान किया।