Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail
होमगार्डों
होमगार्डों

पुलिस के साथ कंधे से कंधा मिलाकर आठ घंटे मुस्तैदी से ड्यूटी करने वाले प्रदेश के होमगार्डों का दैनिक भत्ता अब 300 रुपये से बढ़ाकर 375 रुपये कर दिया गया है।

इसकी घोषणा अवधेश प्रसाद मंत्री होमगार्ड एवं प्रांतीय रक्षक उत्तर प्रदेश ने होमगार्ड मुख्यालय के सभागार में की। उन्होंने यहां 11 भवनों का लोकार्पण करने के साथ ही सात भवनों का शिलान्यास भी किया।

मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के शासनकाल में होमगार्डों का दैनिक भत्ता अब 300 रुपये से बढ़ाकर 375 रुपये कर दिया गया है। गैर जिलों में चुनाव या ड्यूटी के दौरान उन्हें 30 रुपये अतिरिक्त दिया जाता है।

डीजी होमगार्ड वीके गुप्ता ने कहा कि 1963 में स्थापना के वक्त होमगार्ड को एक रुपया दैनिक भत्ता और 50 पैसे प्रशिक्षण भत्ता मिलता था। अब विभाग का बजट भी 800 करोड़ रुपये सालाना का हो गया है। डीजी ने मंत्री से विभागीय कर्मियों के लिए आवास बनवाने की मांग की। डीजी ने बताया कि आठ जिलों में कार्यालय और भवनों के निर्माण की शासन द्वारा संस्तुति हो गई है। अब प्रदेश के 75 जिलों में से 48 जिलों में कार्यालय और भवन हो जाएंगे। हाल में ही महोबा, कासगंज, चित्रकूट, चंदौली, मीरजापुर, शाहजहांपुर और मंडलीय प्रशिक्षण केंद्र मेरठ आदि भवनों का 16 करोड़ रुपये की लागत से निर्माण कराया गया है। इस पर मंत्री ने उनसे प्रस्ताव मांगा और कहा कि वह शासन स्तर पर प्रस्ताव पास कराने का हर संभव प्रयास करेंगे। इस दौरान विशेष सचिव होमगार्ड गीता मिश्रा, एडीजी होमगार्ड डीएल रत्नम, डिप्टी कमांडेंट जनरल होमगार्ड शरत चंद्र त्रिपाठी केंद्रीय प्रशिक्षण संस्थान के कमांडेंट संजीव शुक्ला व अन्य अधिकारी और कर्मचारी मौजूद रहे। इस मौके पर होमगाड्र्स की चार प्लाटून ने बैंड और पाइप पर देश भक्ति की धुनों में मंत्री अवधेश प्रसाद को सलामी दी। मंत्री ने बैंड और पाइप टीम को 11 हजार रुपये का इनाम दिया।