पिता मुलायम से आशीर्वाद लेने पहुंचे अखिलेश यादव

Ex minister written a letter to Amit Shah before Lok Sabha Election 2019

पूर्व मंत्री ने अमित शाह को खत लिखकर दी नसीहत, बोले…मुलायम सिंह यादव के सामने प्रत्याशी न उतारे भाजपा

लोकसभा चुनाव 2019 के लिए सभी राजनीतिक दलों ने तैयारियां शुरू कर दी है। इसी बीच भाजपा के अध्यक्ष अमित शाह को पूर्व राज्य मंत्री ने एक खत लिखकर अनोखी नसीहत दी है। ज्ञात हो कि मैनपुरी लोकसभा से सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव को सपा-बसपा गठबंधन ने अपना उम्मीदवार बनाया है।

उनके उम्मीदवार बनने पर कांग्रेस ने वॉक ओवर देते हुए प्रत्याशी नहीं उतारने का एलान किया है। अब सिर्फ भाजपा ही अपना उम्मीदवार चुनाव मैदान में उतारेगी। मुलायम सिंह के सामने प्रत्याशी नहीं उतारने के लिये पूर्व राज्य मंत्री राम सेवक ने बुधवार को भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को पत्र भेजा है।

साथ ही अनुरोध किया है कि सदन में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को मुलायम सिंह ने दोबारा से प्रधानमंत्री बनने का आशीर्वाद दिया था। ऐसे में नीतिगत भाजपा को अपना उम्मीदवार नहीं उतारना चाहिए। लालबहादुर शास्त्री गन्ना संस्थान के पूर्व चेयरमैन राम सेवक यादव का कहना है कि भाजपा को नेताजी मुलायम सिंह यादव के उस बयान का सम्मान करना चाहिए।

उन्होंने संसद में मोदी को दोबारा प्रधानमंत्री बनते देखने की अपनी इच्छा जाहिर की है। भाजपा का दायित्व बन जाता है कि वह भी मैनपुरी में नेताजी के सामने अपना प्रत्याशी न उतारे। इसके लिए उन्होंने भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष को पत्र लिखा है। यह हालात तब हैं जब अखिलेश यादव पीएम मोदी पर तंज कसने का एक भी मौका नहीं छोड़ते हैं।

मैनपुरी में तीसरे चरण के तहत 23 अप्रैल को मतदान होगा। मैनपुरी लोकसभा क्षेत्र में इटावा जनपद का 199 जसवंतनगर विधानसभा क्षेत्र भी इसी लोकसभा क्षेत्र का हिस्सा है। नेताजी जसवंतनगर विधानसभा क्षेत्र से 1989 में चुनाव जीतने के बाद पहली बार प्रदेश के मुख्यमंत्री बने थे।

Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *