ललित नागर

Growing graph of crime can be a cause of trouble in elections

विधानसभा चुनाव में मुद्दा बन सकता है अपराध का बढ़ता ग्राफ – ललित नागर, विधायक कांग्रेस

फरीदाबाद शहर में लगातार बढ़ रहा अपराध का ग्राफ विधानसभा चुनाव में सरकार के लिए परेशानी का सबब बन सकता है। पिछले दो महीने में अपराध के ग्राफ में लगातार बढ़ोतरी हुई है। विधानसभा चुनाव में अब तीन महीने बचे हैं और शहर में बढ़ता अपराध हर गली-नुक्कड़ पर चर्चा का विषय बना हुआ है। पिछले दो महीने से शहर में लूट व हत्या की वारदातें लगातार हो रही हैं। इस दौरान हत्या की जहां पांच वारदातें हुई, वहीं लूट व छिनैती की एक दर्जन से अधिक घटनाएं हो चुकी हैं। शहरी क्षेत्र में रोजाना तीन से चार घरों में हो रही चोरियां और मोबाइल व चेन झपटमारी भी चिता का विषय हैं। चूंकि अपराध ऐसा मुद्दा है जो आमजन को सबसे ज्यादा प्रभावित करता है, ऐसे में विपक्षी विपक्षी पार्टियां भी इस मुद्दे को भुनाने के लिए अभी से तैयारी में जुट गई हैं। पिछले दिनों हुए हत्या के मामले

10 जुलाई : नंगला-गाजीपुर रोड पर केला गोदाम में 25 वर्षीय युवक के सिर में चोट मारकर हत्या।

27 जून : हरियाणा कांग्रेस प्रदेश प्रवक्ता विकास चौधरी की सेक्टर-9 में गोलियों से छलनी कर हत्या।

26 जून : कैलगांव के पास बाइपास रोड पर हीरापुर निवासी एचआर मैनेजर प्रवीण कौशिक की गोली मारकर हत्या।

22 जून : गांव मुजैड़ी में भंवर लाल की गोलियों से भूनकर हत्या। पिछले दिनों हुए लूट के मामले

9 जुलाई : गांव बुढ़ैना में बिहारी मार्केट में दुकानदार को गोली मारकर 25 हजार रुपयों से भरा बैग लूटा।

28 जून : सेक्टर-82 में मोटरसाइकिल पर सवार होकर आए बदमाशों ने कलेक्शन एजेंट रमेश कुमार से 1.60 लाख रुपये लूट लिए।

19 जून : पर्वतीय कॉलोनी में मोटरसाइकिल पर सवार होकर आए तीन बदमाशों ने बैंक के कलेक्शन एजेंट मनमोहन से एक लाख रुपये लूटे।

14 जून : खेड़ी पुल क्षेत्र में मोटरसाइकिल सवार दो बदमाशों ने दुकानदार सुरेश कुमार से एक लाख रुपयों से भरा बैग लूटा।

12 जून : ग्रीन फील्ड कॉलोनी में मोटरसाइकिल पर सवार होकर आए बदमाशों ने कलेक्शन एजेंट पवन शर्मा से 3.18 लाख रुपयों से भरा बैग लूट लिया।

नाकाबंदी से भी नहीं रुक रहा अपराध का ग्राफ

जून महीने के शुरू में पुलिस ने पूरे शहर में नाकाबंदी कर अपराध पर अंकुश लगाने की कोशिश की थी, मगर यह कामयाब होती नहीं दिख रही। इस समय 50 जगहों पर पुलिस की नाकाबंदी है। शहर में अपराध पर अंकुश के लिए नाकाबंदी की गई है। हमारी कोशिश है कि स्ट्रीट क्राइम पर अंकुश लगे। इसमें हम कुछ हद तक कामयाब हुए हैं। कई बड़े गिरोह पकड़े गए हैं। झपटमार पकड़े गए हैं। अपराध का ग्राफ बहुत जल्द नीचे दिखाई देगा। -संजय कुमार, पुलिस आयुक्त फरीदाबाद

भाजपा सरकार अपराध पर अंकुश लगाने में विफल साबित हुई है। इस बार विधानसभा चुनाव में यह बड़ा मुद्दा रहेगा। शहर में आए दिन लूट व हत्या की घटनाएं हो रही हैं। आमजन सड़कों पर खुद को असुरक्षित महसूस कर रहा है। -ललित नागर, विधायक कांग्रेस

Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *