Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail
योगी सरकार के दावे फेल, रात में नींद हराम, दिन में भी नहीं आ रही बिजली
योगी सरकार के दावे फेल, रात में नींद हराम, दिन में भी नहीं आ रही बिजली

योगी सरकार के दावे फेल, रात में नींद हराम, दिन में भी नहीं आ रही बिजली

शहर को बिजली कटौती मुक्त घोषित किया गया है लेकिन मंगलवार दिन और रात तथा सोमवार की रात में कई बार बिजली गई। शहर के अलग-अलग हिस्सों में टुकड़ों-टुकड़ों पांच से छह घंटे की कटौती की गई। भीषण गर्मी में बिना सूचना के कटौती से लोगों की नींद हराम हो गई।

दिन में भी लोग घरों में बिलबिलाते रहे। महकमा कटौती का कारण लोकल फाल्ट, ओवरलोड से ट्रिपिंग और निर्माण कार्यों में पोल शिफ्टिंग बता रहा है। पारेषण से 24 घंटे बिजली मिल रही है लेकिन वितरण में गड़बड़ी के चलते 24 घंटे बिजली नहीं मिल पा रही है।

चेतगंज, पितरकुंडा, हबीबपुरा, सेनपुरा, कचहरी, शिवदासपुर आदि इलाकों में कटौती हुई। तरना फीडर ट्रिप होने के कारण कचहरी, वरुणा पार, अर्दली बाजार, चौक, शंकुलधारा, सुदामापुर, गोदौलिया, डाफी, डीपीएच, लोहता, चांदपुर, शिवदासपुर, महेशपुर, सिंधोरिया कॉलोनी आदि इलाकों में कई चरणों में कटौती की गई।

इन इलाकों में आज दो से चार घंटे की कटौती

अधिशासी अभियंता डीके त्रिपाठी ने बताया कि उत्तर रेलवे की विद्युत आपूर्ति चालू करने के लिए रानीपुर, रायल रेजीडेंसी अपार्टमेंट, शिवाजीनगर के आसपास के इलाकों की आपूर्ति बुधवार, गुरुवार और शुक्रवार को सुबह आठ से 10 बजे तक बंद रहेगी।

वहीं अधिशासी अभियंता आरके यादव के अनुसार बस स्टेशन से कैंट रेलवे स्टेशन के बीच सेतु निगम के कार्य के लिए सिगरा प्रथम, द्वितीय के भूमिगत तार डाली जाएगी। इसके चलते सुबह 11 से 1 बजे तक काशी विद्यापीठ, नगर निगम, सिगरा, निराला नगर, औरंगाबाद, सोनिया, छित्तूपुरा आदि इलाकों की आपूर्ति बंद रहेगी।

उधर, नगरीय विद्युत वितरण खंड द्वितीय के अधीक्षण अभियंता आरडी सिंह के अनुसार एनएच पीडब्ल्यूडी की ओर से पांडेयपुर चौराहे से आजमगढ़ मार्ग और वीडीए की ओर से आशापुर चौराहे से कज्जाकपुरा मार्ग को चौड़ा किया जा रहा है।

इसके चलते पोल शिफ्टिंग का काम होगा। बुधवार और गुरुवार को कई इलाकों में सुबह 11 से 3 बजे तक कटौती की जाएगी। पांडेयपुर उपकेंद्र से लालपुर फीडर, राय साहब बगीचा, बड़ालालपुर, लमही फीडर संकठा नगर, लेढ़ूपुर, पंचक्रोशी फीडर को दो दिनों के लिए चार-चार घंटे का शटडाउन लिया जाएगा।

योगी सरकार में भी नहीं सुधरी बिजली सप्लाई

बिजली का आलम यह है कि कब आए और कब चली जाए। कुछ पता नहीं है। ग्रामीण इलाके में हालत और बद से बदतर है वहां तो तीन-चार घंटे ही बिजली मिल पा रही है