Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail
मोदी जी, मन की नहीं...मां बाप की बात करिये...
मोदी जी, मन की नहीं…मां बाप की बात करिये…

मोदी जी, मन की नहीं…मां बाप की बात करिये…

पीएम मोदी जी…मन की बात मत करिये, मां बाप की बात करिये। देश की बेटियों की बात करिये। सांसद विधायकों से बेटियों को गोद लेने की बात करिये। निजी स्कूलों की मनमानी के खिलाफ कुछ बोलिए….यह भारत के भविष्य का सवाल है, जिन्हें स्कूलों से निकाला जा रहा है।

फरीदाबाद के अभिभावकों ने यह बात दिल्ली स्थित जंतर मंतर पर प्रदर्शन के दौरान कही। निजी स्कूलों की मनमानी पर सरकार की चुप्पी ने अभिभावकों को दिल्ली कूच करने के लिए मजबूर कर दिया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का रेडियो पर चलने वाला कार्यक्रम मन की बात पूरे देश में लोकप्रिय है। इस कार्यक्रम के माध्यम से ग्रामीण किसान से लेकर महिला विद्यार्थी हर तबके की बात की जाती है, ऐसे में अभिभावक एसोसिएशन ने मन की बात के बजाय मां बाप की बात करने का सुझाव प्रधानमंत्री को दिया है।

हरियाणा पैरेट्स फोरम की जिला प्रधान सावित्री कोहली ने बताया कि निजी स्कूलों द्वारा मनमानी फीस वृद्धि के द्वारा अभिभावकों का शोषण किया जा रहा है। प्रधानमंत्री एक दिन मन की बात के बजाय माता पिता की बात करें, तो बहुत अच्छा होगा। यह विद्यार्थियों के भविष्य का सवाल है।

सरकार की चुप्पी ने निजी स्कूलों के हौंसले को बुलंद करने का काम किया है। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहरलाल द्वारा पिछले दिनों निजी स्कूलों के लिए दिए बयान एवं गुरुग्राम में अभिभावकों पर लाठीचार्ज की घटना के बाद से प्रदेश की जनता को काफी मायूसी झेलनी पड़ी। जिस पर सड़कों पर उतरने का निर्णय लिया था।