Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail
सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव
सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव

समाजवादी पार्टी के संविधान में बदलाव, 30 सितंबर को नये अध्यक्ष का चयन 

लखनऊ में सपा मुख्यालय में हुई पार्टी कार्य‌कारिणी की बैठक में कई बड़े फैसले लिए गए। पार्टी के संविधान में बदलाव किया गया है। इसके तहत अब पार्टी में महासचिव व सचिव के दस-दस पद होंगे, जबकि पहले छह-छह पद होते थे। इसके अलावा महासचिव का नया पद भी होगा।

सपा के संविधान में हुए बड़े बदलाव, पांच साल होगा अध्यक्ष का कार्यकाल

बैठक के बाद पत्रकारों से बातचीत में सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि विधानसभा चुनाव में हार की समीक्षा हो रही है। मैं लगातार कार्यकर्ताओं से मुलाकात करूंगा। 15 अप्रैल से सदस्यता अभियान चलेगा और 30 सितंबर को पार्टी अध्यक्ष का चुनाव होगा।

अखिलेश का दर्द छलका, कहा, बेहद करीबियों ने धोखा दिया

पार्टी के रणनीतिकारों के बीच उन्होंने कहा, ‘मेरे बेहद करीबियों ने धोखा दिया, वे बताते कुछ रहे और जमीन पर हकीकत कुछ और थी। उन्होंने कहा कि समाजवादी रहे अति पिछड़ों को साथ जोड़ने में कमी रह गई।

अखिलेश यादव ने कहा कि हार के कारणों की गहराई से समीक्षा हो रही है। भितरघाती के रूप में चिह्न्ति लोगों पर कार्रवाई होगी। यादव ने सदस्यता अभियान पर जोर देते हुए कहा कि पार्टी संघर्ष के बल पर सत्ता में लौटती रही है और फिर से लौटेंगे। जनता के बीच संघर्ष का संदेश भी दिया।