Flat

Two project of builders will take over the city planner

एसआरएस रियल एस्टेट समेत दो बिल्डरों के प्रोजेक्ट टेकओवर करेगा नगर योजनाकार विभाग

ईडीसी (बाह्य विकास शुल्क) न देने सहित लाइसेंस प्रक्रिया के तहत नियमों का पालन नहीं वाले दो बिल्डरों के प्रोजेक्ट को नगर योजनाकार विभाग ने टेकओवर करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। विभागीय अधिकारी प्रोजेक्ट, बिल्डर व निवेशकों से संबंधित पूरी जानकारी लेने में जुट गए हैं। दोनों बिल्डरों के लाइसेंस रद किए जा चुके हैं।

हाउसिग प्रोजेक्ट

विभाग से मिली जानकारी के अनुसार एसआरएस रियल एस्टेट को पलवल के सेक्टर-6 में 6.44375 एकड़ साइट पर हाउसिग प्रोजेक्ट विकसित करने के लिए 23 नवंबर 2012 को लाइसेंस दिया गया था। बिल्डर को लाइसेंस देने के तीन साल के अंदर प्रोजेक्ट पूरा करना था, जिसमें केवल एक साल अतिरिक्त बढ़ाया जा सकता था।

बिल्डर का लाइसेंस 22 नवंबर 2016 तक मान्य था। इसके बाद इसका नवीनीकरण नहीं हो सका। बिल्डर द्वारा समय पर प्रोजेक्ट भी पूरा नहीं किया गया। इतना ही नहीं उसने ईडीसी के रूप में बकाया 146.42 लाख रुपये भी विभाग को जमा नहीं कराए। इस बारे में कई बार रिमाइंडर दिए गए, पर जवाब नहीं आया।

आइटी पार्क

सेक्टर-5 में 8.306 एकड़ जमीन पर आइटी पार्क के लिए न्यूकैम मशीन टूल्स लिमिटेड को 2008 में लाइसेंस दिया गया था। बिल्डर पर 1217 लाख रुपये असल ईडीसी, 580 लाख रुपये एन्हांसमेंट ईडीसी के और 60 लाख रुपये आईडीसी के रूप में बकाया थे। बिल्डर द्वारा साइट पर चार साल भी बाद विकास कार्य नहीं कराए गए। अब यह होगी कार्रवाई

अब दोनों बिल्डरों के बचे हुए प्रोजेक्ट को नगर योजनाकार विभाग पूरा कराएगा। बिल्डरों से दी हुई ईडीसी की जानकारी ली जाएगी। निवेशकों से भी पूछा जाएगा कि उन्होंने कितनी राशि बिल्डर को दी हुई है। प्रोजेक्ट के अंतर्गत विकास कार्य कराने की कीमत का आकलन शुरू कर दिया गया है। दोनों बिल्डरों के लाइसेंस रद करने संबंधी नोटिस भेज दिए गए थे। एक कमेटी गठित कर दी गई है, जिसके चेयरमैन हुडा प्रशासक हैं। कमेटी में वरिष्ठ नगर योजनाकार सचिव व जिला नगर योजनाकार सदस्य हैं। अब प्रोजेक्ट की पूरी जानकारी ली जा रही है।

  • रेनुका सिंह, जिला नगर योजनाकार, फरीदाबाद
Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *