Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail
मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव ‘अमर उजाला संवाद’ कार्यक्रम में शामिल हुए
मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव ‘अमर उजाला संवाद’ कार्यक्रम में शामिल हुए

मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव ‘अमर उजाला संवाद’ कार्यक्रम में शामिल हुए

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव ने कहा है कि आज की राजनीति जन आकांक्षाओं से जुड़ी हुई है। जनता तरक्की और खुशहाली चाहती है। जन आकांक्षाओं के मद्देनजर समाजवादी सरकार ने अपने कार्यकाल में लगातार काम किया है। प्रदेश का कोई जनपद ऐसा नहीं है, जहां समाजवादी सरकार ने कोई बड़ी परियोजना को साकार न किया हो। बलिया, गाजीपुर, मऊ, आजमगढ़ जैसे पिछड़े जनपदों में भी विकास की बयार पहुंची है। इसीलिए ‘काम बोलता है’ समाजवादियों का नारा भी है। विरोधी दलों के जनप्रतिनिधि भी स्वीकार करते हैं कि वर्तमान राज्य सरकार द्वारा बड़े पैमाने पर विकास कार्य कराए गए हैं। आगामी विधान सभा चुनाव में समाजवादी अपनी उपलब्धियों को लेकर जनता के बीच में जाएंगे।

मुख्यमंत्री आज यहां होटल ताज विवान्ता में आयोजित ‘अमर उजाला संवाद’ में अपने विचार व्यक्त कर रहे थे। इस मौके पर उन्होंने कहा कि पिछले साढ़े चार साल में प्रदेश में विकास गतिविधियां तेजी से बढ़ी हैं, जिससे काफी बदलाव आया है। सामान्यतया 23 महीने में बड़ी सड़कें नहीं बनतीं, लेकिन समाजवादी सरकार ने देश व प्रदेश की राजधानियों को जोड़ने वाले 300 कि0मी0 से अधिक लम्बाई वाले आगरा-लखनऊ प्रवेश नियंत्रित ग्रीन फील्ड एक्सप्रेस-वे, किसानों से उनकी सहमति और सहयोग से जमीन लेकर बनवाने का काम किया है। इस सड़क से प्रदेश की अर्थव्यवस्था पर व्यापक प्रभाव पड़ेगा।

श्री यादव ने कहा कि पूरे देश में कोई राज्य नहीं है, जहां 04 शहरों में पूरी तेजी से मेट्रो रेल परियोजनाएं चल रही हों। समाजवादी सरकार द्वारा प्रारम्भ की गई ‘यू0पी0-100’ पुलिस आपातकालीन प्रबन्धन प्रणाली सेवा की सफलता की खबरें लगातार आ रही हैं। ‘108’ समाजवादी स्वास्थ्य सेवा तथा ‘102’ नेशनल एम्बुलेन्स सर्विस के माध्यम से जरूरतमन्दों को लाभ मिला है। इसके अलावा, जनपदों को चार-लेन सड़कों से जोड़ने, नए बिजली घरों तथा सुपर स्पेशियलिटी अस्पतालों का निर्माण, हाई-टेक सिटीज का विकास जैसी परियोजनाएं भी राज्य सरकार द्वारा चलायी जा रही हैं। ‘1090’ विमेन पावर लाइन के माध्यम से जहां लाखों महिलाओं को राहत पहुंचायी गई है।

मेरठ से करनाल, मुरादाबाद से सम्भल, बरेली से हल्द्वानी, बाबतपुर से भदोही, बरेली से बदायूं आदि समाजवादी सरकार द्वारा निर्मित 04 लेन सड़कों का उल्लेख करते हुए करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा अभी तक 50 से भी अधिक जिला मुख्यालयों को 4-लेन सड़कों से जोड़ा जा चुका है। समाजवादी पेंशन योजना के माध्यम से 55 लाख गरीब परिवारों को आर्थिक सहायता मुहैया कराई जा रही है। लोहिया ग्रामीण आवास योजना के तहत गरीब परिवारों को घर बनाने के लिए 3 लाख 5 हजार रुपए मुहैया कराए जा रहे हैं। अनेक अन्य परियोजनाओं पर तेजी से काम चल रहा है। उन्होंने कहा कि शहरी इलाकों में 24 घण्टे तथा ग्रामीण इलाकों में 18 घण्टे बिजली की आपूर्ति की जा रही है, आने वाले समय में गांवों में भी 24 घण्टे बिजली पहुंचायी जाएगी।

संवाद के दौरान श्री यादव ने कहा कि समाजवादियों ने जो कहा है, उसे कर के दिखाया है। लखनऊ से आजमगढ़ होते हुए बलिया तक समाजवादी पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का निर्माण कराया जा रहा है। इसके निर्माण में भी किसानों द्वारा पूरा सहयोग दिया जा रहा है। इसके लिए 40 प्रतिशत तक जमीन किसानों से मिल चुकी है। आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे जनता के लिए 23 दिसम्बर से खुल जाएगा। एक्सप्रेस-वे पर जनता की सुविधा के लिए हाईवे पुलिसिंग की व्यवस्था की जा रही है। उन्होंने एक्सप्रेस-वे पर 100 कि0मी0 प्रति घण्टा से अधिक की रफ्तार से न चलने की भी सलाह दी है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि समाजवादी सरकार की निःशुल्क लैपटाॅप वितरण योजना से प्रदेश के गांव-गांव में लैपटाॅप पहुंच गया। 18 लाख छात्र-छात्राओं को लैपटाॅप वितरित करने से आधुनिक तकनीक के प्रति खासतौर पर गरीब और किसान परिवारों के बच्चों की झिझक दूर हुई है। जैसे अभी समाजवादी सरकार ने छात्र-छात्राओं को लैपटाॅप दिए, वैसे ही आगे लोगों को स्मार्टफोन भी उपलब्ध कराए जाने की योजना लागू की गई है, इसके तहत 01 करोड़ से अधिक लोगों ने रजिस्ट्रेशन करा लिया है। यह योजना सरकार व जनता के बीच दूरी कम करने के लिए शुरू की गई है। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश ऐसा पहला राज्य है, जो स्मार्टफोन की आधुनिक तकनीक की सहायता से सरकार और जनता के बीच सीधे संवाद की तैयारी कर रहा है।

श्री यादव ने कहा कि नोट बंदी से गरीब जनता को काफी तकलीफ हो रही है। रोजगार कम हुए हैं। विकास की गति रुक गई है। समय बीतने के साथ तकलीफ बढ़ रही है। बड़े लोग तो कागजों पर लेन-देन कर लेते हैं, लेकिन गरीब आदमी अपने पैसे के लिए लाइन में खड़ा है। उन्होंने कहा कि पैसा काला या सफेद नहीं होता। लेन-देन काला-सफेद होता है। किसी लेन-देन में जरूरी टैक्स वसूलने के बाद भी न जमा करने पर आम जनता का क्या दोष है। नोट बंदी से पहले जरूरी तैयारी नहीं किए जाने से लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ा है। उन्होंने कहा कि लोकतंत्र में जो जनता को दुःख देता है, जनता समय आने पर उससे हिसाब लेगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि खेती का काम समय से जुड़ा हुआ है। समय से बीज, खाद तथा अन्य कृषि निवेश न उपलब्ध होने से बुआई नहीं हो पाती, जिससे किसान को बहुत नुकसान हो जाता है। कृषि उपजों पर से इम्पोर्ट ड्यूटी खत्म करने से किसान प्रभावित होता है। चीनी पर इम्पोर्ट ड्यूटी कम किए जाने से गन्ना किसानों को बहुत नुकसान उठाना पड़ा था। ऐसे में प्रदेश सरकार ने बजट में व्यवस्था करके उनकी सहायता की थी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि समाजवादी सरकार के प्रयास से प्रदेश में रोजगार की स्थिति में सकारात्मक बदलाव आया है। लखनऊ में आई0टी0 सिटी, मेट्रो रेल, कैंसर इंस्टीट्यूट आदि की स्थापना तथा प्रदेश में हाईटेक सिटीज़ की स्थापना से रोजगार के अवसर बढ़े हैं। देश का सबसे बड़ा मोबाइल मैन्युफैक्चरिंग क्लस्टर नोएडा में बन रहा है। फूड प्रोसेसिंग में काफी काम हुआ है, जिससे खेती व खेती से जुड़े व्यवसायों में रोजगार बढ़ा है। समाजवादी सरकार ने प्रदेश में बुनियादी ढांचे व उद्योग के विकास पर विशेष ध्यान दिया है। इससे प्रदेश में आर्थिक गतिविधियां बढ़ी हैं और रोजगार भी तेजी से बढ़ा है।

श्री यादव ने कहा कि समाजवादी सरकार स्कूलों में अच्छी से अच्छी व्यवस्था मुहैया कराना चाहती है। इसके मद्देनजर स्कूल में विद्यार्थियों को फल और दूध दिया जा रहा है। छात्र-छात्राओं को बैग और मध्यान्ह भोजन के लिए बर्तन भी उपलब्ध कराने की व्यवस्था की गई है।

कार्यक्रम में मुख्यमंत्री को प्रदेश के कुछ अप्रवासी भारतीयों के संदेश भी सुनाए गए। अपने संदेशों में अप्रवासी भारतीयों ने प्रदेश में हो रहे सकारात्मक बदलावों की तारीफ करने के साथ ही कुछ समस्याओं के बारे में बताया और उनके समाधान भी सुझाए। इन संदेशों पर प्रतिक्रिया देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि संतोष की बात है कि समाजवादी सरकार द्वारा किए गए कामों की तारीफ अप्रवासी भारतीयों द्वारा भी की जा रही है। प्रदेश के वे लोग, जो देश से बाहर हैं, वे भी महसूस कर रहे हैं कि उत्तर प्रदेश तरक्की और खुशहाली के रास्ते पर जा रहा है।

कार्यक्रम में अमर उजाला के सम्पादक डाॅ0 इन्दुशेखर पंचोली ने मुख्यमंत्री को स्मृति चिन्ह प्रदान किया।

इस अवसर पर जनप्रतिनिधिगण तथा शासन-प्रशासन के अधिकारियों सहित अन्य गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।