मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव

We need milk mortar temple, not blood of mortar: Saint Gyan Das

मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव
मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव

राम मंदिर हमें दूध के गारे का चाहिए, खून के गारे का नहीं : संत ज्ञान दास

हनुमानगढ़ी अयोध्या के महंत संत ज्ञान दास ने कहा है कि हम राम मंदिर नहीं बना पा रहे हैं लेकिन राम मंदिर हमें दू्ध के गारे से बना चाहिए, खून के गारे का नहीं।

मुख्यमंत्री आवास पर शनिवार को आयोजित समारोह में संत ज्ञान दास ने कहा कि कुछ लोग राम मंदिर के नाम पर दुकान चला रहे हैं, रोटी सेंक रहे हैं। साधु समाज यह बर्दाश्त नहीं करेगा। हमें राम मंदिर चाहिए, बकवास नहीं। उन्होंने कहा कि जब प्रभु की इच्छा होगी तभी मंदिर बनेगा।

उन्‍होंने कहा कि मुलायम सिंह यादव जब मुख्यमंत्री थे तब हमारी बात होती रहती थी। हाशिम अंसारी (अब मरहूम) और हम दोस्त थे। हम सुलह करके राम मंदिर बनाने की बात कर रहे थे लेकिन दुकान चलाने वालों ने सुलह नहीं होने दी।

ज्ञान दास ने कहा कि यह देश सबका है। कट्टरपंथी पशु हैं। आतंकवादी समाज से विमुख हैं। हम मनुष्य हैं, ऐसा नहीं कर सकते। भारत खंड-खंड नहीं हो सकता है। समाजवादी मुलायम सिंह यादव ने संस्कृत शिक्षकों को जिंदा रखा है अन्यथा राजनाथ सिंह ने अपने मुख्यमंत्रित्व काल में संस्कृत शिक्षकों का वेतन तक रोक दिया था। यह नहीं चलेगा।

इस मौके पर संत धराचार्य ने कहा कि मुख्यमंत्री वर्षों बाद मानव कल्याण के लिए काम कर रहे हैं। करोड़ों पौधे लगाए जाने से सालों बाद यूपी में अच्छी बारिश हुई है। भगवान श्रीकृष्ण ने गीता में कहा है कि प्रकृति की सेवा करो। मुख्यमंत्री श्रीकृष्ण के वंश के रूप में प्रकृति की सेवा कर रहे हैं।

उन्होंने मुख्यमंत्री को तीन बार विजयी भव: कहते हुए आशीर्वाद दिया वे इसी तरह कुर्सी पर आसीन रहें। साथ ही तिरुपति बालाजी से लाया गया पटका और प्रसाद भी दिया।

Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *