पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव

Yogi’s look a like seen at Akhilesh Yadav’s rally

अखिलेश यादव से गले मिले ‘योगी आदित्यनाथ’, सपा की गोरखपुर रैली में लिया हिस्सा

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव की रैली में इन दिनों एक शख्स चर्चा का केंद्र बना हुआ है। खास कर अपनी वेशभूषा को लेकर। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की तरह दिखने वाले सुरेश ठाकुर लोकसभा चुनाव के दौरान अखिलेश यादव की रैलियों में शामिल रहते हैं।

कई बार तो लोग जब उन्हें पीछे से देखते हैं तो गच्चा भी खा जाता है। वे न केवल योगी आदित्यनाथ की तरह दिखते है बल्कि उनके ही जैसे भगवा रंग के कपड़े भी पहने रहते हैं। सुरेश भगवान बुद्ध के अनुयायी हैं।

46 साल के सुरेश से जब यह पूछा गया कि आप योगी की तरह क्यों कपड़ें पहनते हैं तो उन्होंने कहा कि पिछले दस से यही उनकी वेशभूषा है।

यह है पूरी कहानी

लखनऊ निवासी सुरेश सरकारी कर्मचारी थे। बताया जाता है कि वे पंप ऑपरेटर थे। सुरेश को यह नौकरी 2011 में मिली थी। तब मायावती उत्तर प्रदेश की मुख्यमंत्री थीं लेकिन दिसंबर 2017 में सुरेश को नौकरी से बर्खास्त कर दिया गया। तब तक मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बन चुके थे। अखिलेश यादव की रैलियों में नजर आने वाले इन ‘योगी’ का असली नाम है- सुरेश ठाकुर। चुनावी सभाओं में जब भी सुरेश उर्फ योद्धा पहुंचते हैं, भीड़ के आकर्षण का केंद्र बन जाते हैं।

नौकरी जाने के बाद से ही सुरेश ने मुंडन करवा लिया।पहली बार सुरेश को लोगों ने अखिलेश यादव के साथ पहली मई को देखा। समाजवादी पार्टी ऑफिस में लखनऊ लोकसभा सीट के लिए एक बैठक बुलाई गई थी। अखिलेश ने सुरेश को मंच पर बुला कर बैठने को कहा। कई लोगों ने तो उन्हें योगी आदित्यनाथ समझ बैठे।

अखिलेश ने मीटिंग में मौजूद नेताओं से सुरेश का परिचय कराया। अखिलेश उन्हें लेकर अयोध्या और बाराबंकी भी गए। समाजवादी पार्टी में मिल रहे मान सम्मान से गदगद सुरेश कहते हैं अब उनका जीवन अखिलेश को समर्पित है।

गोरखपुर रैली से असली योगी पर निशाना

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने गोरखपुर रैली में कहा, “उत्तर प्रदेश में ठोको नीति चलाने वाले भी हैं। बताओ यहां पे शिक्षा मित्र ठुके थे या नहीं ठुके थे? कोई नहीं बचा है जो न ठुका हो। बताओ टोका गया या नहीं ठोका गया? इसलिए हम कहना चाहते हैं कि सिर्फ चौकीदार को नहीं ठोकीदार को भी हटाना है।”

Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *