Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail
कुल्हड़ वाली चाय
कुल्हड़ वाली चाय

मंगल के दुष्प्रभाव से पीड़ित हैं तो ऐसे बर्तन में चाय पिएं, होगा फायदा

मनुष्य का शरीर पांच तत्वों से मिलकर बना है। जिसमें से एक है मिट्टी। वास्तुशास्‍त्र के अनुसार मिट्टी हमारे सौभाग्य और सफलता को भी आधार देती है। प्राचीन समय में हर काम में मिट्टी का ही उपयोग किया जाता था। फिर चाहे बर्तन में भोजन करना हो या बर्तन साफ करना हो, सब कुछ मिट्टी से ही किया जता था। वास्तुशास्‍त्र के अनुसार घर में इन मिट्टी के बर्तनों रखने से लाभ होता है।

– कभी कभी कुल्हड़ में लस्सी और चाय पीने में एक अलग ही मजा होता है, लेकिन क्या आपको है कि कुल्हड़ में पीने से ये आपकी कितनी मुश्किलों को कम देता है। मिट्टी के बने ये गिलास मंगल ग्रह के दुष्प्रभाव को काफी कम देता है। मंगल ग्रह से प्रभावित लोगों को कोई भी पेय पदार्थ कुल्‍हड़ में पीना चाहिए।

– घर में घड़ा उत्तर पूर्व दिशा में रखना चाहिए। ऐसा करने से घर की नकारात्मक ऊर्जा समाप्त होती हैं।

– अगर आपके घर में कोई व्यक्ति मानसिक रूप से परेशान है तो उसे घड़े से किसी भी पौधे को पानी देने के लिए कहें।

– आज भी बहुत से घरों में घड़े का ही पानी पिया जाता है। अगर आपके घर में मिट्टी का घड़ा नहीं है तो आज ही इसका उपयोग करना शुरू करें। घड़ें का पानी पीने से बुध और चंद्रमा का प्रभाव शुभ होता है। हालांकि विज्ञान के अनुसार भी घड़े का पानी सेहत के लिए लाभदायक होता है।

– अगर आप नौकरी की तलाश कर रहे हैं तो शनिवार को कुल्हड़ में पानी भरकर पीपल के पेड़ के नीचे रखें। अपनी छत पर कुल्‍हड़ में पानी भरकर पक्षियों के लिए भी रख सकते है। ऐसा करने से आपको फायदा मिलेगा।