अखिलेश यादव

Akhilesh Yadav at traders conference in Samajwadi Party office

अखिलेश यादव
अखिलेश यादव

2019 में मोदी को हटाने के लिए व्यापारियों को तैयार कर रहे अखिलेश, मांगा सम‌र्थन

सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने 2019 के चुनाव में केंद्र से भाजपा को हटाने के लिए व्यापारियों से समर्थन मांगा। उन्होंने कहा कि केंद्र की नीतियों के कारण व्यापारियों की मुश्किलें बढ़ी हैं। नोटबंदी और जीएसटी से व्यापारियों को घाटा हुआ है। उन्होंने दावा किया कि गुजरात विधानसभा चुनाव में जनता ने भाजपा के खिलाफ वोट किया है। अखिलेश लखनऊ स्थित सपा कार्यालय में व्यापारियों को सम्बोधित कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि भले ही भाजपा निकाय चुनाव में जीत का दावा कर रही हो लेकिन सच तो ये है कि यूपी विधानसभा चुनाव 2017 के मुकाबले भाजपा का जनाधार घटा है। बीजेपी का वोट 13 प्रतिशत घटा है।

उन्होंने कहा कि मोदी की तानाशाही को हटाने के लिए व्यापारियों को बिगुल फूंकना होगा।

नोटबंदी पर पीएम को घेरते हुए पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि मोदी ने कहा था कि नोटबंदी से कालाधन खत्म हो जाएगा, लेकिन आरबीआई की रिपोर्ट ने इसे झूठा करार दे दिया। सारा पैसा बैंक के पास वापस आ गया। अब मोदी जी को जवाब देना है कि काला धन कहां से आया।

मोदी की नोटबंदी का जवाब गुजरात के लोगों ने वोटबंदी से दिया है: अखिलेश यादव

उत्तर प्रदेश उद्योग व्यापार संगठन की ओर से रविवार को आयोजित व्यापारी सम्मेलन में सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी का घमंड यूपी के लोग ही उतारेंगे। निकाय चुनाव में बीजेपी का वोट प्रतिशत 13 प्रतिशत कम हुआ है। ये जीएसटी का असर है। भाजपा ने जितना टैक्स बढ़ाया है गुजरात का व्यापारी अपने वोटों से सब वसूल करेगा।

लखनऊ के विक्रमादित्य मार्ग स्थित सपा मुख्यालय में आयोजित सम्मेलन में पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और प्रोफेसर रामगोपाल यादव बतौर अतिथि हिस्सा लेने पहुंचे थे।

बीजेपी की नीतियों और नोटबंदी पर बोलते हुए अखिलेश ने कहा कि नोटबंदी का जवाब गुजरात के लोगों ने वोटबंदी से दिया है। गुजरात में बीजेपी को हराने की व्यवस्‍था वहां के व्यापरियों ने कर दी है। 2019 में मोदी की तानाशाही को हटाने के लिए भी व्यापरियों को बिगुल फूकना होगा।

नोटबंदी पर पीएम को घेरते हुए पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि मोदी ने कहा था कि नोटबंदी से कालाधन खत्म हो जाएगा, लेकिन आरबीआई की रिपोर्ट ने इसे झूठा करार दे दिया। सारा पैसा बैंक के पास वापस आ गया। अब मोदी जी को जवाब देना है कि काला धन कहां से आया।

सीता को चुराने वाला ‘योगी’ के भेष में था

वहीं कार्यक्रम में मौजूद प्रोफेसर रामगोपल यादव ने कहा कि सीता को चुराने वाला भी ‘योगी’ के भेष में था। प्रदेश में राम राज्य तभी आएगा जब मोदी का राज खत्म होगा।

एफआरडीआई बिल का करेंगे विरोध

राज्यसभा सांसद संजय सेठ ने कहा कि हम सरकार द्वारा लाए जा रहे फाइनेंशियल रेजोल्यूशन एंड डिपॉजिट इंश्योरेंस बिल (एफआरडीआई बिल) का सदन में विरोध करेंगे। अगर ये बिल आ गया तो बैंक कभी भी जनता का पैसा लेकर भाग सकते हैं।

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव ने आज बुद्ध बिहार, रिसालदार पार्क लालकुआं लखनऊ जाकर महाबोधि सोसायटी आफ इण्डिया के राष्ट्रीय संरक्षक भदंत गलेगेदर प्रज्ञानन्द महास्थविर के पार्थिक शरीर पर पुष्पचक्र चढ़ाकर अपनी विनम्र श्रद्धांजलि दी।

श्री यादव ने कहा कि भदंत प्रज्ञानन्द का महान व्यक्तित्व था और उन्होंने बाबा साहेब भीमराव अम्बेडकर को 14 अक्टूबर 1956 को नागपुर में बौद्ध धर्म की दीक्षा दी थी। भदंत जी की बौद्ध धर्म पर विशेषज्ञता थी और उनका वैश्विक स्तर पर सम्मान था। भदंत प्रज्ञानन्द जी 13 वर्ष की आयु में श्री लंका से भारत आए थे।

श्री अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा सरकार भदंत प्रज्ञानन्द जी के स्मारक निर्माण हेतु भूमि उपलब्ध कराये अन्यथा समाजवादी सरकार बनने पर भव्य स्मारक का निर्माण कराया जाएगा। भदंत जी का 30 नवम्बर 2017 को निधन हुआ था। उनकी शवयात्रा 16 दिसम्बर 2017 को प्रातः लखनऊ से चलकर श्रावस्ती पहुंचेगी जहां 17 दिसम्बर 2017 को ‘जेतवन‘ में उन्हें समाधि दी जाएगी।

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव ने कहा है कि उत्तर प्रदेश में जो भाजपा सरकार बनी है उसने अपने 9 महीने के कार्यकाल में जनहित का कोई काम नहीं किया है। उसने प्रदेश में विकास की गति रोकने के साथ किसानों और व्यापारियों का उत्पीड़न किया है। इस सरकार की कोई दिशा भी तय नहीं है। उन्होंने कहा भाजपा सरकार वोट से बनी है उसी से हटेगी। समाजवादी पार्टी व्यापारियों की हित चिंतक है। उसकी ताकत और वोट मिलने पर भाजपा सŸाा से बेदखल होगी और समाजवादी पार्टी किसान और व्यापारी की खुशहाली लाने का काम करेगी।

श्री अखिलेश यादव आज पार्टी कार्यालय, लखनऊ में उ0प्र0 उद्योग व्यापार संगठन के सम्मेलन में, जिसकी अध्यक्षता सांसद श्री नरेश अग्रवाल ने की, बतौर मुख्य अतिथि सम्बोधन कर रहे थे। इस कार्यक्रम को राष्ट्रीय महासचिव एवं सांसद प्रो0 रामगोपाल यादव ने भी सम्बोधित किया।
श्री अखिलेश यादव ने कहा कि हम आप जो बदलाव चाहते हैं वह सन् 2019 में दिखाई पड़ जाएगा। गुजरात में अभी चुनाव में जनता ने भाजपा पर टैक्स लगाया है। उत्तर प्रदेश में भी व्यापारी क्षुब्ध है। वह भाजपा को सबक सिखाएगा। व्यापारी अब भाजपा की ओर नहीं समाजवादी पार्टी के साथ रहेगा।

श्री यादव ने कहा कि नोटबंदी और जीएसटी ने अर्थव्यवस्था को बर्बाद कर दिया है। नोटबंदी से कालाधन वापस आने और भ्रष्टाचार मिटाने का वादा खोखला निकला। जीएसटी ने व्यापार जगत को संकट में डाल दिया है। व्यापारी परेशान हैं इंस्पेक्टरराज फिर कायम हो गया है। व्यापारी सबसे ज्यादा असुरक्षित है। मथुरा, सीतापुर, वाराणसी, और गाजियाबाद में व्यापारियों की लूट और हत्या की घटनाओं का आज तक खुलासा नहीं हुआ है।

पूर्व मुख्यमंत्री जी ने कहा कि समाजवादी पार्टी किसान और व्यापारी की जोड़ी को बिगड़ने नहीं देगी। एक के साथ दूसरा भी खुशहाल होता है। खुशहाल व्यापारी अर्थव्यवस्था की रीढ़ हैं। भाजपा ने इसे तोड़ने का काम किया हैं। समाजवादी पार्टी ने इसीलिए नगरीय निकाय चुनावों में कई व्यापारियों को टिकट दिया। व्यापारियों पर भाजपा के साथ होने का ठप्पा अब हटना चाहिए।

श्री अखिलेश यादव ने कहा समाजवादी सरकार में कई बड़े काम हुए थे। यूपी 100 डायल से पुलिस कहीं भी घटना स्थल पर 15-20 मिनट में पहुंचती। इससे व्यापारियों को सुरक्षा मिलती। आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे से जहां आवागमन में सुविधा हुई हैं, समय की बचत हुई है वहीं इससे किसान और व्यापारी भी लाभान्वित होंगे। इस एक्सप्रेस-वे को गाजीपुर-बलिया से भी जोड़ने का इरादा था किन्तु भाजपा ने तो अच्छे कामों पर रोक लगाने में ही अपनी ताकत लगाई है।

सम्मेलन में मुख्य वक्ता समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव एवं सांसद प्रो0 रामगोपाल यादव जी ने कहा कि भाजपा राज में जितने जनविरोधी कानून बने हैं उनसे सर्वाधिक प्रभावित व्यापारी वर्ग हुआ है। असलमें भाजपा की नीयत यहां के व्यापारी को पनपने नहीं देने की हैं। उन्होंने चेतावनी के लहजे में कहा कि किसान तो खेती से गुजारा कर लेगा परन्तु व्यापारी का व्यापार नहीं रहा तो कई पीढ़ियों तक वह नहीं पनप पाएगा। इसलिए व्यापारी समाज मन बना ले कि व्यापार पर डाका डालनेवाली भाजपा सरकार को 2019 में हटाना है। उत्तर प्रदेश से भाजपा का सफाया करना हैं।

प्रोफेसर साहब ने कहा कि नोटबंदी और जीएसटी से परेशान होकर 25 हजार छोटे-बड़े व्यापारी विदेश चले गए हैं। रियल इस्टेट कारोबार ठप्प है। भाजपा सरकार मेक इन इण्डिया का षोर मचाती है लेकिन दवा की सरकारी खरीद के लिए अमेरिकी संस्था का प्रमाणपत्र लगाने की शर्त लगाती हैं। जीएसटी ने व्यापारियों को परेशान करके रख दिया है।

उत्तर प्रदेश उद्योग व्यापार संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री नरेश अग्रवाल ने कहा कि व्यापारी समाज को खुलकर समाजवादी पार्टी का समर्थन करना चाहिए। भाजपा की व्यापारी विरोधी नीतियों का जवाब इसकी सरकार को सŸाा से बेदखल करके देना होगा।
इस अवसर पर व्यापारियों ने एकस्वर में संकल्प लिया कि वे भाजपा को सबक सिखाएंगे और समाजवादी पार्टी को मजबूत करेंगे और श्री अखिलेश यादव के नेतृत्व में अगली सरकार बनाएंगे।

Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *