Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail
बिजली
बिजली

हरियाणा के फरीदाबाद में एसआरएस रॉयल हिल्स सोसाइटी के मीटर से चोरी छिपे स्कूल को दी जा रही बिजली

सेक्टर-87 स्थित एसआरएस रॉयल हिल्स सोसायटी के मीटर से बिजली चोरी का मामला सामने आया है। इस मामले में आरोप बिजली विभाग के अधिकारियों पर लगा है। आरोप के मुताबिक सोसायटी के बिजली कनेक्शन में ही यहां स्थित एक स्कूल को बिजली सप्लाई दी जा रही है। हालांकि, विभाग के अधिकारी ने आरोपों को गलत करार दिया है।

एसआरएस रॉयल हिल्स सोसायटी में बिजली सप्लाई सेक्टर-12 फीडर से दी जाती है। सोसायटी का मीटर भी यहीं लगा है। एसआरएस रॉयल हिल्स आरडब्ल्यूए के महासचिव प्रदीप सिवाच ने बताया कि सोसायटी में बिजली का सारा कार्य आरडब्ल्यूए देखती है। 2 करोड़ रुपये बिजली विभाग में जाम कर 1800 किलो वॉट लोड लिया गया है। यह इंडिविजुअल फीडर है। कुछ दिन पहले पता चला कि उनके फीडर से यहां स्थित एक स्कूल को चोरी छिपे बिजली दी जा रही है। जब उनकी टीम ने इसकी जांच की तो वह सही पाई गई।

स्कूल ने उनकी लाइन के बीच में अपनी लाइन जोड़ रखी है। इसका लोड सोसायटी वासियों को झेलना पड़ता है। लोड बढ़ने के साथ कॉलोनी में बिजली फॉल्ट की समस्या भी बढ़ गई है। सोसायटी का हर माह 20 लाख रुपये का बिजली बिल आता है, जबकि मई में 32 लाख रुपये का बिल आया है। यह देखकर वह हैरान हैं। उनका आरोप है कि बिजली विभाग के अधिकारियों की मिलीभगत से स्कूल को फीडर से बिजली दी गई है। क्योंकि, 11 हजार वोल्टेज की लाइन में कोई साधारण मिकैनिक लाइन नहीं जोड़ सकता।

उनका कहना है कि इस मामले को लेकर बिजली विभाग के सभी अधिकारियों को शिकायत कर चुके हैं, लेकिन कहीं कोई सुनवाई नहीं हो रही है। ईएक्सइएन का कहना है कि उनकी जिम्मेदारी फीडर से कनेक्शन देना है। बाकी जिम्मेदारी सोसायटी की है। कोई उनकी लाइन से बिजली चोरी कर रहा है तो उन्हें इसके लिए पुलिस में शिकायत देनी चाहिए।

मुझे इस संबंध में कोई शिकायत नहीं मिली है। शिकायत मिलने पर मामले की जांच करवाई जाएगी। जांच में दोषी पाए जाने वाले अफसरों पर कार्रवाई भी की जाएगी। – प्रदीप चौहान, एसई, बिजली निगम