Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail
पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव
पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव

अखिलेश बोले- ‘BJP सरकार चाहे तो सारी सुरक्षा वापस ले ले, हम तो साईकिल से चल देंगे’

13 जुलाई को सीएम योगी ने समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव की सुरक्षा में कमी क्या कर दी, अखिलेश ने इस पर अपनी प्रतिक्रिया दे डाली…

औरैया के इटैली गांव में एक निजी कार्यक्रम में शामिल होने पहुंचे पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने इस फैसले को लेकर भाजपा पर तीखे प्रहार किए। जानिए क्या बोले अखिलेश..?

उन्होंने सुरक्षा में लगी SUV कार वापिस लेने के सवाल पर कहा की बीजेपी चाहे तो वह अपनी सारी सुरक्षा वापस ले ले। कहा उत्तर प्रदेश में बीजेपी की सरकार चाहे तो सारी कार ले ले वह साईकिल वाले है साईकिल से चलेंगे।

वही विधानसभा में मिले विस्फोटक पदार्थ पर उन्होंने कहा विधान सभा में विस्फोटक मिला सुरक्षा में बड़ी चूक है। इसकी भी जांच होनी चाहिए और यूपी की खराब क़ानून व्यवस्था दिनों दिन ख़राब होती जा रही। इस दौरान कार्यकर्ता अखिलेश यादव से मिलने के लिए बेकाबू होते दिखे लेकिन कड़ी सुरक्षा के चलते लोग दूर ही नजर आए।

गौरतलब हो 13 जुलाई को सीएम योगी ने एक बड़ा फैसला लेते हुए अपनी विरोधी पार्टी और विधानसभा में विपक्ष की भूमिका में समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव और उनके पिता मुलायम सिंह यादव की सुरक्षा में लगी गाड़ियों की कटौती कर दी। इस फैसले के बाद अब अखिलेश यादव के सरकारी काफिले में लगी गाड़ी SUV नहीं दिखेगी।

पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव
पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव

पूर्व सीएम अखिलेश के काफिले में शामिल

पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के काफिले में शामिल बोलेरो तिर्वा कोतवाली क्षेत्र के बलनपुर गांव के पास असंतुलित होकर खड्ड में जा गिरी। बोलेरो में सवार औरैया जिले के दिबियापुर कस्बे के निवासी तीन सपा नेता घायल हो गए। उनको एंबुलेंस से मेडिकल कालेज में भर्ती किया गया।

औरैया जिले के दिबियापुर में सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव का एक कार्यक्रम रविवार को था। कार्यक्रम के समापन के बाद पूर्व मुख्यमंत्री तिर्वा होकर एक्सप्रेस वे के जरिए लखनऊ लौट रहे थे। उनके काफिले में औरैया जिले के दिबियापुर के कृष्णा नगर मोहल्ला निवासी ऋषभ (22) व बसुंधरा कालोनी दिबियापुर निवासी आदर्श (21), आशीष (24) बोलेरो से तिर्वा आ रहे थे।

शाम 4.40 के करीब बलनपुर के पास उनकी बोलेरो अनियंत्रित होकर खड्ड में जा गिरी। कोतवाली पुलिस ने एंबुलेंस से तीनों युवकों को मेडिकल कालेज में भर्ती कराया। इमरजेंसी वार्ड में उनका उपचार चल रहा है।

पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव
पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव

अनिल दोहरे को सरकार उपलब्ध कराए सुरक्षा

सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष व प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि विधानसभा में विस्फोटक पाउडर का मिलना सुरक्षा में गंभीर चूक है। एनआईए व एटीएस मामले की जांच में जुटी है। इस वजह से अभी कुछ कहना जल्दबाजी होगी। कन्नौज के सपा विधायक अनिल दोहरे की सीट पर विस्फोटक होने की बात यह साबित कर रही है कि उनकी सुरक्षा को भी खतरा है। सरकार उन्हें सुरक्षा मुहैया कराए। कन्नौज मेडिकल कालेज में डाक्टरों के इस्तीफा देने के प्रकरण पर कहा कि मेडिकल कालेज व इंजीनियरिंग कालेज चलाना सिर्फ समाजवादी ही जानते हैं। भाजपा सरकार मेडिकल कालेज बंद कर देती है तो सपा की सरकार आने पर इसे फिर से शुरू करा दिया जाएगा।

पूर्व सीएम का काफिला रविवार की शाम 4.50 के करीब औरैया से लखनऊ जाते समय तिर्वा कस्बे में स्व.सपा नेता मुन्ना बाथम के प्रतिष्ठान पर करीब 25 मिनट रुका। यहां उन्होंने कुल्हड़ में चाय पी और मीडिया से रूबरू हुए।

पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव
पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव

कहा कि लखनऊ में चर्चा है कि बजट व जीएसटी से ध्यान हटाने के लिए एक सोची समझी रणनीति के तहत विधानसभा में विस्फोटक पदार्थ रखवाया गया। देश की सर्वोच्च सुरक्षा संस्था जांच कर रही है। अभी कुछ कहना जल्दबाजी होगी। कर्जमाफी से प्रदेश के किसानों का कुछ भला होने वाला नहीं है। उन्हें खेतों में अच्छी उपज के लिए पानी, बीज व खाद चाहिए। फसल बिक्री के लिए अच्छी मंडी चाहिए, तभी किसान कर्ज की समस्या से उबर सकेगा।

सपा सरकार के दौरान तिर्वा क्षेत्र में एक्सप्रेस के निकट एक ऐसी ही मंडी के निर्माण का काम शुरू कराया गया था पर भाजपा सरकार ने इसका बजट रोक दिया है। परफ्यूम पार्क का भी बजट रोक दिया गया। कन्नौज मेडिकल कालेज को बजट न मिलने से कैंसर, कार्डियो, पैरामेडिकल शुरू नहीं हो पाए। वेतन न मिलने से मेडिकल कालेज के डाक्टर छोड़कर जा रहे हैं। सपा सरकार के दौरान कई नए मेडिकल कालेज खोले गए। एमसीआई की मान्यता दिलाई गई।

भाजपा अपने कार्यकाल में नया मेडिकल कालेज, इंजीनियरिंग कालेज शुरू करके दिखाए। मेडिकल कालेज चलाना सिर्फ समाजवादी ही जानते हैं। 2022 में सपा फिर सत्ता में आएगी। भाजपा कन्नौज मेडिकल कालेज बंद करती है तो उनकी सरकार आने पर फिर से शुरू करा दिया जाएगा। इस दौरान कन्नौज के पूर्व सांसद प्रदीप यादव, तिर्वा के सपा नेता दिनेश बाथम, मुकेश बाथम, सर्वेश बाथम, अंशुल गुप्ता, इंद्रेश यादव, राजू खान मौजूद रहे।

सीट के नीचे विस्फोटक मिलने से विधायक दहशत में

विधानसभा में विस्फोटक पदार्थ मिलने के बाद पूरे देश में हल्ला मचा हुआ है। राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी सहित लखनऊ का पुलिस महकमा यह पता लगाने में लगा कि आखिर विधानसभा के अंदर विस्फोटक पदार्थ कैसे पहुंचा, लेकिन अभी तक कोई भी जांच एजेंसी किसी भी नतीजे पर नहीं पहुंच सकी है।

जिस सीट के नीचे से विस्फोटक पदार्थ बरामद हुआ है, उस सीट पर कन्नौज के सदर विधायक अनिल दोहरे बैठे हुए थे, लेकिन उनको इसकी भनक तक नहीं थी। 14 तारीख को विधानसभा पहुंचने पर विस्फोटक पदार्थ मिलने की जानकारी हुई तो उनके पैरों के नीचे की जमीन खिसक गई और वह अवाक रह गए। उनका कहना है कि आईजी लखनऊ ने उनसे फोन से पूछताछ की है। सोमवार को राष्ट्रपति चुनाव के मद्देनजर वह लखनऊ में रहेंगे। इस दौरान जो भी सुरक्षा एजेंसी उनसे पूछताछ करेगी उनका पूरा सहयोग रहेगा।

विधानसभा में विस्फोटक पदार्थ मिलने के बाद सुर्खियों में आए कन्नौज के सदर विधायक अनिल दोहरे काफी घबराए हुए हैं। सुरक्षा की दृष्टि से भी यह भारी चूक है। विधानसभा के अंदर यदि यह विस्फोटक पदार्थ फट जाता तो काफी बड़ी घटना होती है। विधायक ने कहा कि यह विस्फोटक पदार्थ संभवत: 11 अथवा 12 जुलाई को रखा गया है। 14 को विधानसभा पहुंचने पर विस्फोटक पदार्थ रखे होने की उनको जानकारी हुई।

सबसे अजीब बात यह है कि यह विस्फोटक पदार्थ उनकी 80 नंबर सीट के नीचे रखा हुआ था, और उनको ही पता नहीं। आईजी लखनऊ मोबाइल के जरिए उनसे पूछताछ कर चुके हैं। सोमवार को वह लखनऊ में राष्ट्रपति चुनाव की वोटिंग के मद्देनजर रहेंगे और जो भी सुरक्षा एजेंसी उनसे पूछताछ करना चाहेगी वह उनकी पूरी मदद करेंगे।